वॉशिंगटन: कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर दुनिया भर में एक बार फिर से बढ़ता हुआ नजर आ रहा है. कई देशों में कोविड-19 के केस तेजी से बढ़ रहे हैं. भारत में भी कोरोना वायरस की तीसरी लहर आने की चेतावनी दी गई है. लेकिन कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच एक डराने वाली खबर सामने आई है. अमेरिका में कोविड-19 का सबसे खतरनाक वैरिएंट (Coronavirus Variant) मिला है. इसका नाम R.1 वैरिएंट है.

खतरनाक साबित हो सकता है R.1 वैरिएंट

भले ही दुनिया भर में R.1 वैरिएंट के मरीज कम हों लेकिन इसका खतरा ज्यादा है. कोरोना वायरस के संक्रमण को डेढ़ साल से ज्यादा का वक्त बीत चुका है और दुनिया भर में लाखों लोगों की मौत हो चुकी है.

ये भी पढ़ें- आतंकवाद पर प्रहार, UN को सीख देकर भारत लौट रहे PM मोदी; जानें भाषण की बड़ी बातें

कोरोना की दूसरी लहर में कोरोना ने मचाई तबाही

गौरतलब है कि कोरोना की दूसरी लहर में भारत में लोगों को काफी परेशानी उठानी पड़ी थी. कोरोना के वैरिएंट R.1 ने एक बार फिर से दुनिया भर की धड़कनें बढ़ा दी हैं.

एक्सपर्ट्स ने कोरोना के वैरिएंट को लेकर दी चेतावनी

एक्सपर्ट्स ने कोरोना वायरस के इस खतरनाक वैरिएंट के बारे में लोगों को चेतावनी दी है. रिसर्चर्स ने हाल ही में अमेरिका में कोरोना के वैरिएंट R.1 की पहचान की है. एक्सपर्ट्स कहना है कि R.1 वैरिएंट के कम मामलों के बावजूद लापरवाही नहीं बरती जा सकती है. ये खतरनाक साबित हो सकता है.

ये भी पढ़ें- पंजाब: आज नए मंत्री लेंगे शपथ, 8 मंत्रियों की होगी वापसी; 7 नए चेहरों को मिलेगी जगह

कोरोना का नया वैरिएंट R.1 क्या है?

एक्सपर्ट्स के मुताबिक, भले ही R.1 वैरिएंट की पहचान अमेरिका में रिसर्चर्स ने अभी की हो लेकिन ये वैरिएंट पिछले साल जापान में मिल चुका है. इसके अलावा R.1 वैरिएंट कई अन्य देशों में भी दस्तक दे चुका है. जान लें अमेरिका समेत दुनिया के लगभग 35 देशों में कोरोना के वैरिएंट R.1 के केस मिल चुके हैं. इनकी संख्या 10 हजार से ज्यादा है.

LIVE TV

Source

Leave a Reply

Your email address will not be published.