कर्नलगंज, गोण्डा। तहसील क्षेत्र में अवैध अतिक्रमण हटाओ अभियान के तहत गुरुवार को प्रशासनिक अधिकारियों एवं भारी पुलिस बल की मौजूदगी में जमकर जेसीबी गरजी। जिसकी चपेट में ऐसे गरीब असहाय लोग भी आये जिनके पास सर छिपाने के लिये कोई आसरा नही है। मामला तहसील क्षेत्र कर्नलगंज के ग्राम पाल्हापुर (चचरी) से जुड़ा है। जहां गुरुवार को उपजिलाधिकारी हीरालाल, तहसीलदार पुष्कर मिश्र, क्षेत्राधिकारी मुन्ना उपाध्याय एवं प्रभारी निरीक्षक प्रदीप कुमार सिंह भारी संख्या में पुलिस बल के साथ चचरी बाजार पहुंचे ही थे कि राजस्वकर्मी भी दो जेसीबी लेकर मौके पर पहुंच गये। वहीं प्रशासन व पुलिस की संयुक्त टीम की मौजूदगी में दुकान व मकान गिराने का सिलसिला शुरू हुआ। इस कार्रवाई को देखकर लोग अपने मकान व दुकान से सामान बाहर निकालने लगे। उधर प्रशासन की जेसीबी एक के बाद एक मकानों/दुकानों को ध्वस्त करती आगे बढ़ रही थी। प्राप्त जानकारी के अनुसार यहां करीब दस हेक्टेयर के आसपास चारागाह की भूमि है। जिस पर करीब ढाई दशक से अधिक समय से पैंतीस लोग अपना मकान/दुकान बनाकर गुजर बसर कर रहे थे। इसमे से कुछ ऐसे लोग भी हैं जिनके पास न तो भूमि है और न ही सर छुपाने के लिये कोई आसरा है। बताया जाता है कि ऐसे लोग सड़क के किनारे ठेला व चाय नाश्ते की दुकान लगाकर परिवार का भरण पोषण कर रहे थे। जो अपना आशियाना गिर जाने से खुले आसमान के नीचे परिवार के साथ रहने को विवश हो गये हैं। लगभग पांच घण्टे तक चले अतिक्रमण हटाओ अभियान में सरकारी भवन छोड़कर शेष सभी दुकान/मकान ध्वस्त हो गये। उपजिलाधिकारी हीरालाल ने बताया कि न्यायालय के आदेश का अनुपालन कराया गया है।उक्त संबंध में इससे पूर्व सरकारी चारागाह खाते की भूमि पर आबाद सभी लोगों को नोटिस भेजकर दुकान व मकान स्वयं हटा कर भूमि खाली करने को कहा गया था। जिस पर कुछ लोगों ने स्वयं अपना कब्जा हटा भी लिया था। उन्होंने बताया कि इस अतिक्रमण हटाओ अभियान में कुछ अति गरीब व भूमिहीन लोग बेघर हो चुके हैं। जिनके नाम से भूमि आवंटित कर अलग बसाने बसाने की कार्यवाही की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.